हिंदी का फोरम
 
HomeHome  GalleryGallery  FAQFAQ  SearchSearch  RegisterRegister  Log inLog in  
खान हिंदी फोरम में आप सभी का स्वागत है|

Share | 
 

 देसी नुस्खे

View previous topic View next topic Go down 
AuthorMessage
KC sharma
स्वागत प्रभारी
स्वागत प्रभारी


Posts : 67
Thanks : 5
Join date : 14.12.2010
Location : delhi

PostSubject: देसी नुस्खे   Tue Dec 14, 2010 8:20 pm

भोजन के एक घण्टे बाद पानी पीने की आदत डाली जाये तो केवल आप खाँसी से बचे रहेगें बल्कि आपकी पाचन शक्ति भी अच्छी बनी रहेगी ।
Back to top Go down
KC sharma
स्वागत प्रभारी
स्वागत प्रभारी


Posts : 67
Thanks : 5
Join date : 14.12.2010
Location : delhi

PostSubject: मुख के रोगों से बचाव   Tue Dec 14, 2010 8:21 pm

मुख में कुछ देर सरसों का तेल रखकर कुल्ली करने से जबड़ा बलिष्ट होता है। आवाज ऊँची और गंभीर हो जाती है। चेहरा पुष्ट हो जाता है और छ: रसों में से हर एक को अनुभव करने की शक्ति बढ़ जाती है। इस क्रिया से कण्ठ नहीं सूखता और होंठ नहीं फटते हैं। दांत भी नहीं टूटते क्योंकि दांतो की जड़े मजबूत हो जाती है।
Back to top Go down
KC sharma
स्वागत प्रभारी
स्वागत प्रभारी


Posts : 67
Thanks : 5
Join date : 14.12.2010
Location : delhi

PostSubject: दांत, जीभ व मुँह के रोग से बचाव   Tue Dec 14, 2010 8:23 pm

प्रात: कड़वी नीम की दो-चार पत्तियाँ चबाकर उसे थूक देने से दांत-जीभ व मुँह एकदम साफ रहता और निरोगी रहते हैं। कड़वी नीम की पत्तियों में क्लोरोफिल होता है।

विशेष - नीम की दातुन उचित ढंग से करने वाले के दांत मजबूत रहते हैं। दांतों में न तो कीड़े लगते न ही दर्द होता है। मुख-कैंसर और मुख रोगों से बचाव होता है
Back to top Go down
KC sharma
स्वागत प्रभारी
स्वागत प्रभारी


Posts : 67
Thanks : 5
Join date : 14.12.2010
Location : delhi

PostSubject: काली खांसी   Tue Dec 14, 2010 8:26 pm

भुनी हुई फिटकरी और चीनी (एक रत्ती) दोनों को मिलाकर दिन में दो बार खाएं। पांच दिन में काली खांसी ठीक हो जाती है। बड़ो को दोगुनी मात्रा दें। यदि बिना पानी के न ले सके तो एक दो घूंट गर्म पानी ऊपर से पी लें।

या दही दो चम्मच, चीनी एक चम्मच, काली मिर्च का चूर्ण छः ग्राम मिलाकर चटाने से बच्चों की काली खाँसी और वृद्धों की सूखी खांसी में आश्चर्यजनक लाभ होता है।
Back to top Go down
KC sharma
स्वागत प्रभारी
स्वागत प्रभारी


Posts : 67
Thanks : 5
Join date : 14.12.2010
Location : delhi

PostSubject: देसी नुस्खे   Tue Dec 14, 2010 10:43 pm

प्रतिदिन दोपहर में एक गिलास गाजर का रस पीने से शरीर में रक्त बढ़ता है।

शरीर पुष्ट और सुडौल होता है तथा आँखों की ज्योति बढ़ती है

अमरूद के पत्तों का काढ़ा बनाकर कुल्ले करने से मुँह के छालों और मसूड़ों के कष्ट में आराम मिलता है।

अँगूर की पत्तियाँ सुखाकर पीसकर रख लें। एक चम्मच चूर्ण एक गिलास पानी में उबालकर काढ़ा करें और इस कुनकुने गर्म काढ़े से गरारे करने से मुँह के छाले, दाँत दर्द और टॉंसिल्स के कष्ट में बहुत लाभ होता है।

पत्तागोभी : इसके पत्तों के रस में समभाग पानी मिलकर गरारे करने से टॉंसिलाइटिस, फेरिजाइटिस और लेरिजाइटिस आदि व्याधियाँ नष्ट हो जाती हैं। प्रतिदिन 100 ग्राम पत्तागोभी के पत्ते बारीक काटकर सलाद के रूप में लगातार सेवन करने से नेत्र ज्योति की कमजोरी दूर होती है।
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: देसी नुस्खे   Mon Jan 31, 2011 12:36 pm

गैस होने पर पिसी सौंठ में स्वाद के अनुसार नमक मिलाकर गर्म पानी से यह सौंठ लेने से फायदा होता है।
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: देसी नुस्खे   Mon Jan 31, 2011 12:37 pm

यदि बहुत ज्यादा हिचकी आ रही हो तो गरम पानी के साथ दो लौंग खाने से हिचकी बंद हो जाती है।
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: देसी नुस्खे   Mon Jan 31, 2011 12:38 pm

पैरों में बिवाइयाँ पड़ जाती हैं, इनसे बचने के लिए सरसों के गरम तेल से सिकाई करना चाहिए।
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: देसी नुस्खे   Mon Jan 31, 2011 1:13 pm

दिल के मरीजों को भोजन में सोयाबीन का तेल प्रयोग करना चाहिए, क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल से मुक्त होता है।
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: देसी नुस्खे   Mon Jan 31, 2011 1:16 pm

जुकाम : कुनकुने पानी में नीबू का रस डालकर उसके गरारे किए जा सकते हैं। घूँट-घूँटकर पिया जा सकता है। तुलसी की पत्ती-पोदीने की पत्ती, आधा बड़ा चम्मच अदरक तथा गुड़ दो कप पानी में उबालें। फिल्टर करके उसमें एक नीबू का रस डालकर उपयोग करें।
Back to top Go down
Sponsored content




PostSubject: Re: देसी नुस्खे   

Back to top Go down
 

देसी नुस्खे

View previous topic View next topic Back to top 
Page 1 of 1

Permissions in this forum:You cannot reply to topics in this forum
Khan Hindi Forum :: विविध (Miscellaneous) :: सेहत-
Jump to: