हिंदी का फोरम
 
HomeHome  GalleryGallery  FAQFAQ  SearchSearch  RegisterRegister  Log inLog in  
खान हिंदी फोरम में आप सभी का स्वागत है|

Share | 
 

 प्यार करने कि सजा

View previous topic View next topic Go down 
AuthorMessage
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 12:24 pm

अपने देश में ऑनर किलिंग थमने का नाम नहीं ले रही है | माता पिता या रिस्तेदारो द्वारा कि गयी अपने बच्चो की हत्या को मिडिया ने एक खूबसूरत नाम दे दिया ऑनर किलिंग !

झूटी शान के लिए प्यार करने वालो को उनके माँ बाप ही मौत के घाट उतार देते है |

अगर उन से बच जाए तो पंचायत प्रेमी युगल को मौत का फरमान सुना देती है |

हम रोज इसी तरह की खबरे पढते रहते है और भूल जाते है | इस सूत्र में हम इसी तरह की खबरे प्रकाषित करेगे -
साथ में अखबार का नाम, तारीख और खबर देने वाले का नाम भी देगे -
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 12:30 pm

आजादी के बाद की शर्मनाक तस्‍वीर: प्रेम विवाह, आज भी मिलती है मौत की सजा

Sun, 08/15/2010 - 00:33 — sdeo
नई दिल्ली। देश को आजादी मिले 63 साल हो चुके हैं, लेकिन राधा-कृष्‍ण के इस देश में आज भी प्रेम करने वालों के लिए मौत की सजा सुनाई जाती है । यह सजा अदालत नहीं, विभिन्‍न खाप पंचायतें सुनाती हैं । खाप पंचायतों ने पिछले चार सालों में प्रेम करने वाले 121 युवाओं को इज्जत के नाम पर (ऑनर किलिंग) सजा-ए- मौत दी है। 560 से अधिक प्रेमी-प्रेमिकाओं पर जुल्‍म ढाए गए हैं । उन्‍हें जान से मारने की धमकी दी गई है और कानून के रखवाले बेबस होकर या तो तमाशाई बने रहे है या फिर इसे जायज ठहरा कर इसमें सहभागी बने हैं ।



खाप पंचायतों के तालिबानी कानून का खुलासा राष्ट्रीय महिला आयोग के उस सर्वे में हुआ है जिसे दिल्ली की एक संस्था शक्तिवाहिनी ने किया है। शक्तिवाहिनी ने 2007 से 2010 तक पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश्, दिल्ली समेत कई राज्यों में 600 लोगों पर किए गए एक सर्वे में पाया है कि ऑनर किलिंग ज्यादतर उन्हीं इलाकों में की गई है जहां खाप पंचायतें सक्रिय भूमिका निभा रही है।

सर्वे में यह भी स्‍पष्‍ट हुआ है कि प्रेमी युगलों पर जुल्‍म ढाने में परिवार वालों ने बढ़-चढ़ कर खाप पंचायतों का साथ दिया है। इज्जत के नाम पर पंजाब में 283, हरियाणा में 190, उत्तर प्रदेश में 51, तमिलनाडु में 30, दिल्ली में 18, गुजरात और बिहार में में तीन, महाराष्ट्र, उत्तराखण्ड और राजस्थान में दो और झारखण्ड में एक प्रेमी जोड़े को समान गोत्र या दूसरी जाति में शादी करने पर प्रताड़ना मिली । घर, परिवार और समाज की इज्जत के नाम पर 121 प्रेमी युगलों की बलि चढ़ा दी गई। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 48, हरियाणा में 41, दिल्ली में 15 और अन्य राज्यों में 17 प्रेमी युगलों को मार दिया गया।




शक्तिवाहिनी ने पाया कि 560 मामलों में 465 मामले अन्तरजातीय विवाह के थे। इनमें समगोत्र में विवाह का प्रतिशत महज 3.2 फीसदी था। 83 फीसदी मामलों में प्रेमी युगलों पर कहर ढ़ाने में सबसे ज्यादा आगे लड़की के मां-बाप रहे। 560 में से 498 मामलों में लड़कियों के मां-बाप ने, 19 मामलों में लड़के के मां-बाप ने, 15 मामलों में दोनों पक्षों ने और 28 मामले में अन्य पक्षों ने प्रेमी युगलों को प्रताड़ित किया।


हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 300 पुलिस कर्मचारियों में से 81 फीसदी ने कहा कि खाप पंचायतें सही मुद्दा उठाते हैं । 85 फीसदी ने कहा कि समान गोत्र में विवाह नहीं करने देने की खाप पंचायतों की आपित्त बिल्कुल जायज है। वहीं शहरी और ग्रामीण इलाकों में 600 लोगों में से 48 फीसदी लोगों ने कहा कि समगोत्र में विवाह पर खाप पंचायतों का एतराज सही है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष गिरिजा व्यास को उम्मीद है कि इस रिपोर्ट के नतीजों को देखते हुए सरकार उचित कदम उठाएगी और नए कानून को जल्द से जल्द अमल में लाएगी । आयेाग ने यह रिपोर्ट महिला और बाल विकास मन्त्रालय और गृह मन्त्रालय को सौंप दी है।

साभार:
प्रतिभा ज्योति, नईदुनिया
(लेखिका वरिष्‍ठ पत्रकार हैं)
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 1:26 pm

प्यार की सजा, लड़की को मौत के घाट उतारा

आईबीएन-7 Posted on Dec 30, 2009 at 09:36am IST

गुड़गांव। गुड़गांव के गांव पातली में प्रेम प्रसंग के चलते 20 साल की लड़की की हत्या का मामला सामने आया है। इस मामले में प्रेमी जोड़ा एक ही गोत्र का था। हालांकि गांववालों का कहना है कि लड़की ने आत्महत्या की है।


गुड़गांव के गांव पातली की रहने वाली निक्की आज इस दुनिया में नहीं है। निक्की को अपने ही गांव के एक युवक मुनीश से प्रेम करने के जुर्म में सजा-ए-मौत दी गई। हालांकि मुनीश पहले से ही शादीशुदा था लेकिन निक्की से मुलाकात के बाद दोनों के बीच मोहब्बत परवान चढ़ने लगी। 24 दिसंबर को गांववालों को इसकी भनक लग गई इसके बाद निक्की और मुनीश गांव छोड़कर भाग गए।


दो दिन बाद इन्हें पकड़कर वापस गांव लाया गया। उसी रात पुलिस को निक्की की हत्या की खबर मिली, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही गांववालों ने निक्की के शव को जला दिया। इसके बाद निक्की का परिवार भी गांव से फरार हो गया। पुलिस ने निक्की के परिवार के 6 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला तो दर्ज कर लिया है लेकिन गांव वाले इसे हत्या मानने को तैयार ही नहीं हैं

गांववालों का कहना है कि निक्की ने आत्महत्या की है। इस बात को सही साबित करने के लिए गांववाले पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसी के चलते गांववाले अपने इलाके के विधायक को साथ लेकर कमिश्नर के दफ्तर भी पहुंचे और पूरे मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की। वहीं पुलिस ने इस मामले में आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है


khabar.ibnlive.in.com/news/25636/3
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 1:30 pm

एक पत्रकार को मिली प्रेम के बदले मौत

Mon, 05/03/2010 - 13:18 — sdeo
कोडरमा। दिल्‍ली में एक अंग्रेजी अखबार में काम करने वाली पत्रकार निरुपमा पाठक की हत्या की गई थी। उसे गला दबा कर मारा गया था। निरुपमा गर्भवती थीं। उसने खुदकुशी नहीं की थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। निरुपमा का शव तिलैया थाना क्षेत्र के चित्रगुप्त नगर में उसके आवास से गत 29 अप्रैल को संदिगध अवस्था में पाया गया था। पुलिस ने 30 अप्रैल को शव पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया था। तीन डाक्टरों के मेडिकल बोर्ड ने निरुपमा के शव का पोस्टमार्टम किया। रिपोर्ट के अनुसार निरुपमा को दस से 12 सप्ताह का गर्भ था।
हत्‍यारी मां
निरुपमा की मां सुधा पाठक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने सुधा पाठक व तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ निरुपमा की हत्‍या के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। मां सहित इन आरोपियों पर धारा 302, 201, 120बी के तहत मामला दर्ज किया गया है। निरुपमा के पिता धर्मेंद्र पाठक और दो भाई समेंद्र व सलिल पाठक से भी शक के आधार पर पूछताछ की गई है। हत्‍या के समय पिता व भाई के कोडरमा से बाहर होने की बातें सामने आ रही हैं। पुलिस को शक है कि साजिश के तहत पिता व भाई कोडरमा से बाहर थे और मां ने तीन लोगों के साथ मिलकर निरुपमा की गला दबाकर हत्‍या कर दी। निरुपमा के घरवालों की भूमिका इस मामले में शुरू से ही संदिग्‍ध रही है। शव मिलने के बाद निरुपमा के परिजनों ने मामले को दबाने का प्रयास किया और इसे आत्महत्या बताया था। शव के पास सुसाइड नोट भी रखा गया था। पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में गला दबा कर हत्या किए जाने की बात से हत्‍या की पुष्टि हुई। निरुपमा अंग्रेजी समाचार बिजनस स्‍टैंडर्ड में अप्रैल 2009 से कार्यरत थी।
प्रेम बना जान का दुश्‍मन
निरुपमा पाठक अंतरजातीय विवाह करना चाहती थी। निरुपमा जिससे शादी करना चाहती थी उनका नाम प्रियभांशु है और वो भी पत्रकार हैं। प्रियभांशु ने कुछ मीडियाकर्मियों को को बताया कि ''निरुपमा के घरवाले शादी के लिए तैयार नहीं थे। निरुपमा को यह कह कर बुलाया गया था कि उसकी मां की रीढ़ की हड्डी टूट गई है। जिस रात निरुपमा की मौत की बात बताई जा रही है, उसी दिन निरुपमा ने मुझे मैसेज भेजा है कि तुम अपना ध्यान रखना। कुछ ऐसा वैसा मत करना। मैं कैसे मान लूं कि निरुपमा ने आत्महत्या की है। इसी वजह से निरुपमा को अपनी जान गंवानी पड़ी।''
राष्ट्रीय महिला आयोग से जांच की मांग
निरुपमा इंडियन इंस्टीट्यूट आफ मास कम्यूनिकेशन की छात्रा रह चुकी थीं। उसकी हत्या से सदमे में आए उसके दोस्त व सहकर्मी राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष गिरिजा व्यास को एक ज्ञापन सौंप कर मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है।


aadhiabadi.com


Last edited by khan on Sun Dec 19, 2010 1:32 pm; edited 1 time in total
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 1:47 pm

दिल्ली में हुई 'ऑनर किलिंग' मामले के तीन आरोपी गिरफ्तार
गाजियाबाद (उप्र), एजेंसीFirst Published:24-06-10 07:09 PM

दिल्ली में झूठी शान के लिए रविवार को सिलसिलेवार तरीके से अपने तीन रिश्तेदारों की कथित तौर पर हत्या करने वाले तीनों युवकों को गुरुवार को यहां के गढ़मुक्तेश्वर इलाके में गिरफ्तार कर लिया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रघुवीर लाल ने बताया कि मनदीप नागर (23), अंकित चौधरी (22) और नकुल खारी (21) को दिल्ली से लगभग 90 किलोमीटर दूर गढ़मुक्तेश्वर से गिरफ्तार किया गया है तथा उनके पास से एक देशी पिस्तौल भी बरामद किया गया है। लाल ने बताया कि एक कार भी जब्त की गई है।

यह तीनों लोग अंकित की बहन मोनिका (24), उसके पति कुलदीप (26) की कथित तौर पर हत्या करने के बाद से फरार थे। अंतरजातीय शादी करने को लेकर इनकी हत्या की गई। इसके अलावा मनदीप की बहन शोभा (22) की भी इन तीनों ने कथित तौर पर हत्या कर दी थी। शोभा भी दूसरी जाति के एक व्यक्ति के साथ भाग गई थी।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बृज लाल ने लखनऊ में बताया कि आरोपियों ने 20 जून को ही इन तीनों हत्याओं को अंजाम दिया था। उन्होंने बताया कि सबसे पहले उन्होंने शोभा की हत्या की। उन्होंने उसे उसकी कार में गोली मार दी। इसके बाद उन्होंने कुलदीप को मिलने के लिये बुलाया और उसकी भी हत्या कर दी। फिर, उसकी पत्नी मोनिका की उसके घर में हत्या कर दी।

लाल ने बताया कि युवकों ने कहा है कि गांव के लोग यह कह कर उनकी बेइज्जती करेंगे कि उनकी बहनों ने जाति के बाहर शादी की है और वे अपमान का सामना नहीं कर सकते।

livehindustan.com/news/desh/national/39-39-123607.html
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 1:49 pm

प्यार करने के मिली सजा, युवती को जलाया और प्रेमी की हत्या
Source: Agency | Last Updated 16:12(10/11/10

बिजनौर। उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में प्रेम प्रसंग के चलते लड़की के परिजनों ने प्रेमी की हत्या कर दी और लड़की को जला कर मारने की कोशिश की। पुलिस हत्यारे परिजनों की तलाश कर रही है।


पुलिस सूत्रों के अनुसार बिजनौर के हल्दौर इलाके के रहने वाले तौफ्की का वहीं पर रहने वाली एक लड़की से प्रेम प्रसंग था। यह बात जब लड़की के मामा और मां को पता चली तो उन्हों ने इज्जत के खातिर तौफ्की की हत्या कर दी। यह बात जब लड़की को पता चली तो उसने इसका विरोध किया और पुलिस में शिकायत दर्ज करने की धमकी दी। इस पर परिजनों ने लड़की को भी जला कर मारने का प्रयास किया।

पड़ोसियों के यह सब देखने के बाद लड़की को जली अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद से हत्यारे परिजनों का कुछ अता-पता नहीं है। तौफ्की के परिजनों ने हत्या का मामला दर्ज कर दिया है। पुलिस हत्यारों को तलाश रही है।

bhaskar.com/article/UP-in-lovedeath-1534497.html
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Sun Dec 19, 2010 1:59 pm

विक्रम ने ही मारी थी पिंकी को गोली

बैतूल/होशंगाबाद। ऑनर किलिंग के मुख्य आरोपी विक्रम यादव उर्फ विक्की ने बहन की कनपटी पर गोली मारी थी। उसकी लाश को नसीराबाद नर्मदा पुल से नीचे फेंक दिया था। पिंकी की हत्या किस तरह से की गई होगी इसका पूरा ब्योरा बैतूल पुलिस को मिल गया है। शनिवार को बैतूल पुलिस एजेके थाने के डीएसपी सतीश मिश्रा के नेतृत्व में छह सदस्यीय टीम होशंगाबाद के सेठानी घाट पर पहुंची। टीम ने होमगार्ड की मदद से मोटरबोट लेकर सेठानीघाट से बान्द्राभान तक नर्मदा नदी में पिंकी की लाश को तलाश किया।

बैतूल एजेके डीएसपी मिश्रा ने बताया कि हत्या में उपयोग की गई कार में पिंकी को लेकर आरोपी विक्रम 24-25 नवम्बर को शाहगंज तरफ से पहले पिंकी के मामा और मामी को बाबई में छोड़ा। उसके बाद पिंकी, अर्जुन और विक्रम लाला कार से शाहगंज की तरफ गए। इस दौरान कार चालक ने डीजल समाप्त होने की बात भी कही। विक्रम ने ग्राम नांदनेर के पास एक पेट्रोल पंप से दौ सौ रूपए का डीजल लिया। इसके बाद विक्रम और अर्जुन रात 12.30 बजे पिंकी को लेकर पैदल ही बीच पुल पर आए। वहां उसने पिंकी से पूछा की तुम क्या चाहती हो।

पिंकी ने बगैर डरे हुए बब्बू के साथ रहने की बात कही। इस पर विक्रम ने पिस्तौल निकालकर पिंकी के दाएं तरफ कनपटी पर गोली मार दी। पिंकी के शरीर में पत्थर आदि बांधकर अर्जुन और विक्रम ने उन्से नदी में फेंक दिया। डीएसपी मिश्रा ने बताया कि पिंकी की हत्या किस प्रकार की गई है इसकी पूरी पड़ताल हो गई है। पिंकी की लाश में पत्थर आदि भी बांधा होगा तो अब तक लाश से पत्थर निकल गया होगा। इसके बाद लाश पानी के बहाव के साथ होशंगाबाद की तरफ आई होगी। होशंगाबाद आई बैतूल पुलिस टीम में एसआई आरके विसारे, एएसआई अर्जुन वरदिया, प्रधान आरक्षक संतोष रघुवंशी, आरक्षक पंजाब राव और गणेश शामिल थे।

लगाए कई चक्कर
सेठानी घाट पर बैतूल पुलिस ने मोटर बोट से पिंकी की लाश की तलाश की। इस दौरान बोट से पुलिसकर्मियों ने सेठानीघाट से बान्द्रभान तक कई चक्कर लगाए। बैतूल डीएसपी मिश्रा ने बताया कि बैतूल से आए दो गोताखोरों को बाबई के नसीराबाद नर्मदा घाट पर भेजा गया है। गोताखोर शनिवार सुबह से नर्मदा के विभिन्न घाटों पर पिंकी की लाश को तलाश कर रहे हैं।

एक आरोपी होशंगाबाद में छिपा
डीएसपी मिश्रा ने बताया कि पिंकी के मामा-मामी का एक लड़का होशंगाबाद में रिश्तेदार के यहां छिपा है। इसकी पूरी जानकारी पुलिस को मिल गई है। बैतूल पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए कार्रवाई कर रही है। उन्होंने बताया कि मामला उजागर होने के बाद पिंकी के मामा का लड़का इटारसी नहीं गया। वह होशंगाबाद आकर ग्वालटोली क्षेत्र में अपने रिश्तेदार के यहां छिपा गया है।

ग्रामीण करेगे मदद
पिंकी की लाश को ढंूढने अब आसपास के ग्रामीणों की भी मदद ली जाएगी। बाबई, नांदेड़, जनवास,नसीराबाद आदि गांवों के ग्रामीणों ने लाश का पता लगाने में सहयोग करने का आश्वासन दिया है।

मुख्य आरोपी अभी भी फरार
प्रेमी युगल हत्याकांड मामले में पिंकी का भाई (मुख्य आरोपी)विक्रम अभी भी फरार है। पुलिस द्वारा लाश मिलने के बाद इस
आरोपी के भी जल्द गिरफ्तार होने की बात कही जा रही है।


24dunia.com/hindi-news/shownews/0/विक्रम-ने-ही-मारी-थी-पिंकी-को-गोली/5464506.html
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Mon Jan 31, 2011 10:57 pm

सादुलशहर में भाई ने रेता बहन का गला

बीकानेर। गंगानगर जिले के सादुलशहर कस्बे में प्रेमी के साथ रहने की जिद पर भाई ने अपनी बहन की गला रेतकर सोमवार को हत्या कर दी। सादुलशहर के थानाधिकारी सुनील झांझडिया ने बताया कि कस्बे के वार्ड नंम्बर एक में अपराह्न करीब एक बजे संतोष देवी (26) को उसका छोटा भाई राधेश्याम घसीटकर कमरे में ले गया और उसके पलंग से हाथ पैर बांध दिए। फिर मिट्टी खोदने वाली कस्सी से उसका गला रेत दिया।

उन्होंने बताया कि संतोष देवी का छह सात वर्ष पहले सादुलशहर से ही सात आठ किलोमीटर दूर पंजाब के खाटवा गांव में विवाह हुआ था। करीब बीस दिन पहले वह खाटवा गांव से अपने प्रेमी के साथा भाग गई थी। सुबह ही संतोष देवी का पिता रामचंद्र उसे भटिंडा से लेकर आया था। वह संतोष को घर छोड़कर उसकी ससुराल खटवा गांव में बातचीत के लिए चला गया।

उधर, संतोष देवी को उसके परिजन समझा बुझा रहे थे लेकिन वह अपने प्रेमी के साथ ही रहने की जिद पर अड़ी थी। तब उसके छोटे भाई राधेश्याम ने यह कहते हुए परिजनों को घर से बाहर भेज दिया कि वह इसे समझाकर मना लेगा। पुलिस ने राधेश्याम को गिरफ्तार करके उसके खिलाफ 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया।


Monday, 31 Jan 2011 7:01:10 hrs IST
rajasthanpatrika.com
Back to top Go down
khan
प्रधान नियामक
प्रधान नियामक


Posts : 462
Thanks : 8
Join date : 14.12.2010

PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    Thu Sep 26, 2013 12:04 pm

पानीपत। रोहतक के गरनावठी में प्रेमी जोड़े की ऑनर किलिंग की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि यहां एक और ऑनर किलिंग का मामला प्रकाश में आया है। परिजनों ने अपनी बेटी को जहर देकर मार डाला।

पढ़ें: मोबाइल और जींस का प्रतिबंध केवल लड़कियों पर ही क्यों?

सोमवार तड़के गुपचुप तरीके से यमुना किनारे शव का दाह संस्कार भी कर अस्थियां व राख यमुना में बहा दी। पुलिस ने परिवार के सदस्यों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है।

बापौली गांव की 17 वर्षीय नवयुवती 15 दिन पूर्व अपने प्रेमी के साथ घर से फरार हो गई थी। सोनीपत क्षेत्र का प्रेमी जोगी जाति से है, जबकि वह नाई थी। परिवार वालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं था। भागने के पांच दिन बाद युवती के घर लौटने पर कलह शुरू हो गई।

बताया जा रहा है कि रविवार की रात युवती को जबरन जहर देकर मार डाला गया।

परिजन सोमवार तड़के शव को यमुना किनारे अधमी घाट पर ले गए और दाह संस्कार कर दिया। सुबह किसी ने 100 नंबर पर फोन कर दिया। परिवार के सदस्यों पर हत्या व सबूत को नष्ट करने का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
Back to top Go down
Sponsored content




PostSubject: Re: प्यार करने कि सजा    

Back to top Go down
 

प्यार करने कि सजा

View previous topic View next topic Back to top 
Page 1 of 1

Permissions in this forum:You cannot reply to topics in this forum
Khan Hindi Forum :: साहित्य और रोचक जानकारी :: कलयुग की खबर-
Jump to: